एक कहानी- पात्रता।।

ग्यान लेना अच्छी बात है मगर उसे ग्रहण करने हेतु पात्रता की क्षमता पैदा करना और भी ज्यादा जरुरी है।

तभी हम उसे खुद के जीवन में भी अपना पाऐंगे और लोगों को भी प्रभावित कर पाऐंगे अन्यथा वो ग्यान हम पर बोझ बनकर अहंकार में परिवर्तित हो हमारे विनाश का कारण बनता है।

और जब हम पात्रता प्राप्त कर लेते हैं तो हम प्रकृति के हर अंश से सीख सकते हैं।

19 Comments

    1. 🤣 no nothing much except the story goes that our ancestors have established 15 villages with this name and one of that was the one you are questioning for.
      But I have no idea of the truth, it may or not be true.

      Like

  1. बहुत ही सुन्दर
    बिल्कुल सही बात है कि ग्यान प्राप्त करने के लिए उसकी क्षमताओं का विकास करना अति आवश्यक है अन्यथा उसका कोई अस्तित्व नहीं है.. आप बहुत ही अच्छे विषयों पर लिखने का प्रयास करते हो
    ऎसे ही लिखते रहो.. बहुत सुन्दर

    Liked by 2 people

          1. प्रयास ही सफलता और जीवन दोनों की पहली सीढी है। अच्छा लिखते हैं भाई लिखते रहें।

            Liked by 1 person

Leave a Comment

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s