सब चंगा सी — pankajchandnaniblog

देश में सब चंगा सी गरीब थोड़ा नंगा सी एनआरसी पे पंगा सी प्याज थोड़ा महंगा सी मैली थोड़ी गंगा सी विकास न पहुंचा दरभंगा सी बीच में कंचनजंगा सी बिन्नेस थोड़ा मंदा सी परेशान हर इक बंदा सी खेत में कीट पतंगा सी किसान झूल रीया फंदा सी पार्टीयन खे बहुत मिल रीया चंदा […]Continue reading “सब चंगा सी — pankajchandnaniblog”

आज मैंने फिर खुद से मिलाया है खुदको Today, When I made myself meet myself

Translation follows आज उसने मुझको जो बुलाया, फिर सेमंजर फिर वही याद आया मुझे, झट सेजब जब भी नाम मेरा लेता है वो आजकलसिहर सा जाता है दिलो-दिमाग मेरा उस पलहालाँकि चाहती तो मैं भी हूँ सदा सेकि वो भी बुलाये कभी मुझे प्यार सेतरस ही गयी हैं निगाहें मेरी उसकी बातों कोकभी तो तरसेगाContinue reading “आज मैंने फिर खुद से मिलाया है खुदको Today, When I made myself meet myself”

Should be asked. — vj.sadhak

“पूछ लिया करते हैं” जब अल्फाज़ धरने पर रहे,मायूसी भी ऐसा ही कहे,ख़ामोशी क्या कहती है,पूछ लिया करते हैं। आँखें भी ना बयाँ कर रही हों,अश्क़ शैतानी किया कर रही हों,तब रूह क्या सहती है,पूछ लिया करते हैं। जब पांव हरकतें करने से डरें,बस सहम-सहम कर चला करें,वह खौफ़ कहाँ रहती है,पूछ लिया करते हैं। […]Continue reading “Should be asked. — vj.sadhak”

And the Delhi elections results are out!!

(Sorry for the delay in this post… it was due from 11th of Feb,2020, when the election results were out… but that time I was too overwhelmed with joy to write anything:D) Yes finally!! the much awaited and much bluffed about, election results are out. AAP (Aam Aadmi Party- common mens’ party) has won theContinue reading “And the Delhi elections results are out!!”

All lamps are gone off today बुझा दिए तूने सारे दिए आज

Copyright: Rachana Dhaka English translation follows बुझा दिए तूने सारे दिए आज, ए ज़िन्दगीसफर में हमसफ़र ही फरेबी देकरएक उम्मीद लेकर आयी थी की शायदकभी तो इंसान की इंसानियत आएगी बाहरसाथ रहने से कुछ तो असर होगा किसी परपता चला पत्थर दिल है वो मगरउसे भी दिखाई देता पैसो के आगे जहाँ अगरहो जाती रहमतContinue reading “All lamps are gone off today बुझा दिए तूने सारे दिए आज”

Live the best life … away from chaos!!

Yes friends. This life is yours and the chaos is created by others, so we need to think many more times before getting troubled with this all the shit going on outside. The whole world is crying, shouting, and especially the political leaders these days, in every so called big country or the biggest democraciesContinue reading “Live the best life … away from chaos!!”

Readers’ questions to be replied

I have received some questions or comments on my post calling India a Republic??? Though the questions I have posted there are after the experience of twelve years, while being in touch with the people at the ground and reading about these policies and laws, and trying to know their impact and implementation at theContinue reading “Readers’ questions to be replied”

Elected representatives are not the ‘Country’

Some of my innocent brothern have taken many of our questions wrongly because they are misunderstanding the king with the kingdom. My dear brothern or sisters or friends or respected elders or dear younger ones, I just want to clarify one doubt of ours today that when we talk about the elected representatives of oursContinue reading “Elected representatives are not the ‘Country’”

गणतंत्र भारत ???

जबकि पूरा देश जल रहा है, देश का हर किसान और जवान रो रहा है, हर औरत डर रही है. सवाल लाज़िम है कि क्या हम वाक़ई, सभी व्यावहारिक अर्थों में, गणतंत्र रहे हैं कि नहीं?? एक बार इस सवाल पर फिर से विचार करने की ज़रूरत है.जब एक चुनी हुयी सरकार जनता के सवालोContinue reading “गणतंत्र भारत ???”